Lead Kindness Hero Sri Guru Singh Sabha Gurdwara Dadar



मुंबई: देश के हर आपदा में सिख समुदाय ने मानवता का उम्दा उदाहरण पेश किया है, और एक बार फिर जब देश पर कोरोना जैसे महामारी का प्रकोप बढ़ रहा है तो सिख समाज भूखे और जरूरतमंदों की मदद के लिए सामने आया है। अस्पतालों में भर्ती मरीजों और उनके परिजनों के लिए समस्याएं और बढ़ गई हैं, जिनको भोजन उपलब्ध करने की जिम्मेदारी सिख समाज ने लिया है। दिहाड़ी मजदूरों को महीने भर का राशन भी उपलब्ध कराएंगे।


शुक्रवार को दादर स्थित श्री गुरुसिंघ सभा गुरुद्वारा बैठक में कोरोना वायरस से युद्धस्तर पर निपटने के तैयारियों का जायजा लिया गया।

बैठक के दौरान प्रबंधन समिति के सदस्यों ने सोशल डिस्टेंसिंग के दिशा निर्देशों का पालन भी किया। समिति के सदस्यों ने कोरोना वायरस के प्रकोप पर चिंता जताया और मानवता धर्म का ध्यान रखते हुए जिन अस्पतालों में भोजन की मांग की गई थी उन्हें भोजन उपलब्ध कराने और पंतनगर में 40 कमरों को सरकार को उपलब्ध कराने का निर्णय लिया।


श्री गुरुसिंघ सभा दादर के अध्यक्ष सरदार रघुबीर सिंह ने कहा कि देश पर जब भी संकट आया, हमेशा हमारे समाज ने तन-मन-धन से सेवा की है । इस बात की चुनौती अलग है । हम सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए लोगों की मदद करेंगे।

मरीजों के परिजनों को मुफ्त भोजन

सिंह ने कहा कि कोलावा, जेजे अस्पताल सहित कई अन्य स्थानों से भोजन की मांग की गई थी उसे हमने पूरा करने का निर्णय लिया है सभा की तरफ से अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही जिनका जीवनयापन हर दिन की कमाई से होता है जैसे कि शहर के टैक्सी, ऑटो ड्राइवर या जो दिहाड़ी मजदूर है उन्हें चिन्हित कर एक महीने का राशन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए सभा के सदस्य अपने अपने स्तर पर लोगों की जानकारी जुटाएंगे और फिर उन्हें राशन उपलब्ध कराएंगे। संस्था की कोशिश है कि शहर में कोई भी भूखा ना रहे।


भोजन बनाना एक चुनौती

सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए सभा के महासचिव सरदार मनमोहन सिंह रत्ती ने कहा है कि हमारी कोशिश होगी कि कम से कम लोगों से लंगर की सेवा ले, ऐसे में भोजन पकाना एक चुनौती हैं लेकिन हमारी कोशिश होगी कि ज्यादा से ज्यादा लोगों की भोजन उपलब्ध कराया जाए।


40 कमरे कराएंगे उपलब्ध

रत्ति ने कहा कि पंतनगर में लोगों के रहने के लिए 40 कमरे हैं । उसे राज्य सरकार को उपलब्ध कराएंगे सरकार उसे अपने जरूरत के हिसाब से उपयोग कर सकेगी।


घर रहकर कर सकते हैं सेवा

सभा के पदाधिकारियों ने कहा कि इस महामारी को रोकने का एकमात्र उपाय है कोराना संक्रमित लोगों से दूर रहना एवं ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक करना। घर पर रहना मौजूदा समय के लिए सबसे बड़ी सेवा मानी जाएगी । अत्याधिक आवश्यक पडने पर ही बाहर निकले और मास्क एवं सैनिटाइजर का इस्तेमाल जरूर करें।


We salute Sri Guru Singh Sabha Gurdwara Dadar, committee members, they are our Lead Kindness Heros

Recent Posts

See All

LEAD KINDNESS HERO SHRAVAN FROM UTTRAKHAND

• A FRIEND IN NEED IS A FRIEND IN NEED "A friend in need is a friend in deed", this is a quote from which we are familiar since our childhood. The same quote is being proved by Shravan, a student of 1

© 2020 by LEAD KINDNESS